Monday, August 2, 2010

414-1982 Lutera Raajkumar-3

Hindi Indrajaal Comic No. 414 Published in 1982 by Times of India Publication, a unit of Bennett & Coleman Co. Ltd.

I originally planned to scan & post this issue tomorrow ( 1 per day) but the 2 Ps Prabhat and Pret and their Magnanimous comment wouldn't allow me to take rest.

Download Comic :- http://www.mediafire.com/?ecj59w92bk51irx

4 comments:

PBC said...

हिन्दी इंद्रजाल की बाढ़ आप जो लायें हैं, उंसकी सतत प्रवाह की इस धारा में, इस बार फिर पाठकों की तरफ से कृतज्ञता के पहले फूल अर्पित हैं|

धन्यवाद|

लगे रहो राज भाई|

PRET said...
This comment has been removed by the author.
PBC said...
This comment has been removed by the author.
PRET said...

बुर्रर्ररर्रर्ररआ , मजा आ गया ओह प्रभात भाई मन प्रसन्नचित कर दिया आपकी भारी भरकम और ठोस हिंदी नें !
रही बात इस बेरहम बाढ की ,यह बाढ नहीं रुकने वाली,और तो और यह बाढ धवनि परिवर्तन करते हुए मस्ती से चल रही है , दिन में डिंग डोंग, शाम को टिंग टोंग और कल रात से ठाक, ठाक, ठाक, ठाक के कर्कश सुर निकाल रही है,
मुझे तो अपनी नौकरी खतरे में लग रही है , ऑफिस का काम कम पर हिंदी इंद्रजाल की डाउनलोडईंग का कार्य पूरे शबाब पर है
राज साब, आप ऐसी धवनियाँ रोज सुनाये , नौकरी और खोज लेगें पर हिंदी इंद्रजाल को डाउनलोड करना नहीं छोड़ सकते , बुर्रर्ररर्रर्ररआ

प्रेत