Saturday, August 7, 2010

V27N01-1990 Dhadhakta Pratishodh

Hindi Indrajaal Comic No. V27N01 Published in 1990 by Times of India Publication, a unit of Bennett & Coleman Co. Ltd.

Download Comic :- http://www.mediafire.com/?3g0snww663z9lix

3 comments:

PBC said...

Night just started, I'm not sleeping. :)

Thanks for another Hindi Indrajal!

AZAD said...

इस धधकती पेशकश के लिए धन्यवाद्, वैसे तो देर रात तक जागना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है पर हम सब हिंदी इंद्रजाल के चाहने वालों के लिए राज भाई की पोस्ट किसी 'संजीवनी' बूटी से कम नहीं है , बस फायदे ही फायदे हैं !! इसलिए मैं तो यह कहूँगा की "जागते रहो , जागते रहो, जागते रहो........."

विशाल "प्रेत

蔡曼鄭美玉屏 said...

唯有學習不已的老師,才能認真的教,唯有燃燒自己,才能點亮他人的燈............................................................